उत्तर प्रदेश के उप मुख्यमंत्री ने देश के समग्र विकास के लिए बताया इस क्षेत्र की मजबूती को अहम


लखनऊ। देश के समग्र विकास के लिये शिक्षा क्षेत्र की मजबूती पर बल देते हुये उत्तर प्रदेश के उप मुख्यमंत्री डा दिनेश शर्मा ने बुधवार को कहा कि विद्यार्थियों को गुणवत्तायुक्त शिक्षा के साथ उनके कौशल विकास पर भी ध्यान देना होगा।

डा शर्मा ने जयपुरिया स्कूल ऑफ बिजनेस के तत्वावधान में टीचर्स ट्रेनिग एकेडमी आफ रिसर्च (स्टार) का शुभारंभ वर्चअुल माध्यम से किया। इस अवसर पर उन्होने कहा कि ”हमारे देश के समग्र विकास के लिए सबसे महत्वपूर्ण शिक्षा क्षेत्र का विकास करना है। विद्यार्थियों को शैक्षिक कौशल देना होगा और राष्ट्र विकास के मकसद से एकजुट होने और योगदान देने के लिए भी कौशल का विकास करना होगा।’’

शिक्षकों की महत्ता बताते हुए उन्होंने कहा कि एक ठोस शिक्षा व्यवस्था की बुनियाद हमारे शिक्षकों की गुणवत्ता पर टिकी होती है। स्टार जैसी पहल निस्संदेह शिक्षकों के ज्ञान का फलक बढ़ाने में सहायक होगा और फलस्वरूप लाखों विद्यार्थी लाभान्वित होंगे। इस अवसर पर जयपुरिया ग्रुप ऑफ एजुकेशनल इंस्टीट््यूशंस के अध्यक्ष शिशिर जयपुरिया ने कहा कि पूरी दुनिया में शिक्षा के परिवेश में आमूल परिवर्तन हो रहा है और इसका कारण आधुनिक तकनीक की उपलब्धता और महामारी से उत्पन्न अभूतपूर्व स्थिति है। ये बदलाव स्थायी रहने वाले हैं और हर शिक्षण संस्थान को बने रहने के लिए तत्परता और लचीलापन के साथ खुद को बदलना होगा और आने वाले समय में स्कूलों को शिक्षा की हाइब्रीड पद्धति अपनानी होगी।

स्टार के एकेडमिक काउंसिल के अध्यक्ष विनोद मल्होत्रा ने कहा, ” यह घोषणा करते हुए हमें खुशी है कि यूपी के विभिन्न निजी और सरकारी स्कूलों के शिक्षक ऑनलाइन ट्रेनिग कोर्स का लाभ ले कर ऑन-लाइन माध्यम से शिक्षा देने का कार्य बखूबी जारी रखेंगे। इससे सभी स्कूलों को समय पर सिलेबस पूरा करने में मदद मिलेगी। इस अत्याधुनिक तकनीक का पूरे शिक्षक समुदाय को लाभ होगा।’’





Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are makes.